संयुक्त किसान मोर्चा से गुरनाम चढूनी 7 दिन के लिए सस्पेंड, बयानबाजी करना पड़ा भारी

0
127

हरियाणा न्यूज: तीन कानूनों के खिलाफ लगातार दिल्ली की सीमाओं पर किसान बैठे हुए हैं। वहीं संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान के बाद अब आंदोलन को आगे बढ़ाया जा रहा है। आज संयुक्त किसान मोर्चा के नेताओं ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें किसान नेता राज्यपाल ने कहा कि हरियाणा के किसान नेता गुरनाम चढूनी को 7 दिन के लिए सस्पेंड किया गया है। गुरुनाम चढूनी बार-बार राजनीतिक बयान दे रहे थे। उन्हें 7 दिन के लिए सस्पेंड किया गया है। 7 दिन तक वह न तो स्टेज पर जाएंगे और न ही कोई बयान देंगे, क्योंकि हमारा काम सिर्फ किसानों के हक में आंदोलन लड़ना है ना कि चुनाव लड़ना है।

वहीं, इस फैसले के बाद गुरनाम सिंह ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मेरी विचारधारा को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। क्योंकि मिशन पंजाब को लेकर मैंने अपनी विचारधारा स्पष्ट कर दी थी। उसी के साथ साथ संयुक्त किसान मोर्चा यह फैसला ले रहा है कि मिशन उत्तर प्रदेश चलाया जाएगा। लेकिन मैं यह पूछना चाहता हूं कि क्या कांग्रेस हमारा साथ देगी? हमारी मांगों को कांग्रेस पूरा करेगी? यह तीनों कृषि कानून वापस होंगे> एमएसपी की गारंटी वाला बिल कांग्रेस लेकर आएगी? इन बातों का जवाब किसी के पास नहीं है?

क्या पंजाब के लोगों को परंपरागत पार्टियों को वोट देना चाहिए? उन्होंने कहा कि सरकार यह मानकर ना चले कि अब गुरनाम सिंह किसान आंदोलन से बाहर निकल जाएगा और यह आंदोलन टूट जाएगा। उन्होंने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा जो भी फैसला लेगा मैं उसका सम्मान करूंगा और इस आंदोलन में और बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया जाएगा। क्योंकि हम पर ही सबसे ज्यादा मुकदमे दर्ज हुए हैं और हम ने ही पुलिस की लाठियां और पानी की बौछारो से पुलिस का सामना किया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here