भारतीय हॉकी टीम में प्रदेश की छोरियों का जलवा, पूरे हरियाणा में जश्न

0
213

इतिहास गवाह है कि जब-जब बेटियों ने किसी भी क्षेत्र को चुना है तो लिहाजा अपना परचम लहराया है। ताजा उदाहरण टोक्यो ओलंपिक 2020 का है जहां देश की महिला हॉकी टीम ने कड़े मुकाबले के बीच क्वार्टर फाइनल में ऑस्ट्रेलिया को हराकर पूरी दुनिया को हैरान कर दिया है। अंतिम कुछ मिनटों में मैच लगातार रोमांचक दिखाई दिया। सब की धड़कन रुक गई थी। जहां भारतीय महिला हॉकी टीम ने संयम और मजबूती के साथ खेल में अच्छा प्रदर्शन किया तो भारतीय हॉकी टीम क्वार्टर फाइनल के मुकाबले में अपनी जगह बनाने में कामयाब हो गई है। वही जीत की खुशी के बाद न केवल पूरे देश भर में बल्कि सोनीपत से महिला हॉकी टीम में खेल रही चार बेटियों के घरों में और पूरे जिले में खुशी का माहौल है।

लोग परिजनों के घर पहुंच कर बधाई दे रहे हैं। परिजन एक दूसरे को मिठाईयां बांटकर खुशियां व्यक्त कर रहे हैं। जहां सोनीपत में हॉकी मैदान पर तीन बेटियों नेहा गोयल, निशा वारसी और शर्मिला खून पसीना बहाती थी। वहीं, तीनों बेटियों को विषम हालात में हॉकी के मैदान पर पारंगत करने वाली उनकी कोच प्रीतम सिवाच ने भी जमकर खुशियां मनाई है और उन्होंने कहा कि पहले मुकाबला काफी मुश्किल लग रहा था। क्योंकि ऑस्ट्रेलिया दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी टीम मानी जाती है वहीं उन्होंने बताया कि आज भारतीय हॉकी टीम की रणनीति और कोच का खेल प्लान लिहाजा कामयाब हो गया।

कोच प्रीतम ने कहा  कि नेहा गोयल ने अपने खेल को साबित किया कि वह एक बेहतर खिलाड़ी है। वहीं दूसरी तरफ निशा वारसी और शर्मिला ने भी खेल में अच्छा प्रदर्शन टीम के साथ किया है। अंतिम 5 से 6 मिनट में उनकी कोच प्रीतम सिवाच काफी एक्साइटेड नजर आई । उन्होंने कहा कि टीम जीतने के बाद बहुत खुशी हो रही है और सुबह से ही लगातार बधाई हो कि संदेश मिल रहे हैं एक कोच के लिए इससे बड़ा गर्व कोई और नहीं हो सकता। सोनीपत की चौथी बेटी मोनिका के घर भी खुशी का माहौल है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here