घाटी में एक बार फिर से शुरू हुआ पंडितों का दमन, आंतकियों ने घर में घुसकर की हत्या

0
184

हरियाणा न्यूज:  वीरवार को कश्मीर में आंतकवादियों ने एक कश्मीरी पंडित की गोली मार कर हत्या कर दी। गोली लगने के बाद वह गंभीर रुप से घायल हो गए। चश्मदिदों के अनुसार इस हमले के बाद वह जमीन पर गिर गए। गोलियां चलने के बाद ऑफिस में भगदड़ मच गई और हमले के तुरंत बाद सभी आंतकवादी वहां से भाग गए। जिसके बाद घायल अवस्था में उन्हें अस्पताल ले जाया गया। हालत अधिक गंभिर होने के कारण उन्हें श्रीनगर रेफर कर दिया गया। श्रीनगर अस्पताल में कुख देर उनका इलाज चला पर घाव गहरे होने के कारण डॉक्टर उन्हें बचा नहीं पाए।

मृतक की पहचान राहुल भट्ट के रुप में हुई है। राहुल जम्मू-कशमीर के बडगाम जिले में रहता था। राहुल बडगाम के तहसीलदार के ऑफिस में काम करता था। आपको बता दें कि हमले के बाद सुरक्षा बल घटना स्थल पर पहुंचे और उन्होंने पूरे स्थल का निरक्षण किया। पुलिस द्वारा आंतकियों को पकड़ने के लिए सर्च ऑपरेश्न शुरू कर दिया गया है। राहुल के परिवार को आशा है की आंतकी जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

पहले भी हो चुका है ऐसा हमला…..                

जम्मू-कशमीर में यह आंतक की कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी आंतकियों ने कुछ दिन पहले एक पुलिसकर्मी की हत्या कर दी थी। वह पुलिस नियंत्रण कक्ष हेल्पलाईन 112 के ड्राइवर के रुप में तैनात थे जब आंतकवादियों ने उन पर जानलेवा हमला किया। इस घटना के बाद भी पुलिस ने कहा था कि वह जल्द ही आंतकवादियों को पकड़ लेंगे पर आज तक आंतकवादी नही पकडे गए।

1990 कश्मीरी पंडितो के नरशंहार की याद दिलाती है यह घटना…..

इस प्रकार की घटनाए जब भी जम्मू-कश्मीर से आती है तो आम लोगो को सिर्फ एक ही घटना याद आती है। जैसा 2022 में राहुल भट्ट के साथ हुआ है वैसा ही 1990 में 5 लाख पंडितों के साथ हुआ था। रातों-रात पंडितों को अपना घर और जमीन छोड़ कर घाटी से भागना पड़ा था। आंतकियों द्वारा हजारो पंडितों को मार दिया गया था। महिलाऔं के साथ अमानविय घटनाए हुई थी। आज फिर घाटी में कुछ वैसा ही देखने को मिल रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here