हरियाणा विधानसभा चुनाव: इनेलो की गढ़ रही रतिया में इस बार कौन करेगा फतह? जानें क्या है चुनावी समीकरण

0
203

हरियाणा न्यूज़: हरियाणा में 21 अक्टूबर को होने वाले विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। चुनावी शेड्यूल भी जारी हो चुके हैं। राज्य के सभी विधानसभा सीटों के बारे में आपको पूरी जानकारी उपलब्ध कराने के लिए ‘हरियाणा न्यूज़’ का ‘चुनावी एक्सप्रेस’ रतिया पहुंच चुका है। अन्य विधानसभा क्षेत्रों की तरह आज हम आपको यहां के 2014 के चुनावी परिणामों सहित वर्तमान स्थिति की पूरी विस्तृत जानकारियों से अवगत करा रहे हैं।

इनेलो की गढ़ रही है रतिया

रतिया विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र हरियाणा के फतेहाबाद जिले में स्थित एक प्रमुख विधानसभा क्षेत्र है। यह सिरसा लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के अन्तर्गत आता है। यहां वर्ष 1977 में हुए विधानसभा चुनाव में यहां से जनता पार्टी के पीर चंद ने जीत हासिल की थी। काफी समय तक इनेलो की की गढ़ रही इस विधानसभा सीट से वर्तमान में भी इनेलो के प्रोफेसर रविंदर बलिआला विधायक हैं। यह क्षेत्र नगरपालिका समिति का मुख्‍यालय भी है, जिस वजह से यह राजनीति का मुख्य केद्र है। प्रसिद्ध हिंदू संत रत्‍तन नाथ के नाम से प्रेरित इस इलाके के नाम को माना जाता है।

2014 का चुनावी परिणाम

फतेहाबाद जिले की रतिया विधानसभा सीट इस बार अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित है। 2014 विधानसभा चुनाव में रतिया सीट से इनेलो के प्रोफेसर रवींद्र बालियाला ने 50,905 वोट हासिल करके शानदार जीत दर्ज की थी। वहीं, दूसरे नंबर पर रहे बीजेपी के सुनीता दुग्गल को 50,452 वोट मिले थे। इस तरह से रवींद्र बालियाला ने 453 वोटों जीत हासिल की थी।

2019 के चुनावी मैदान में हैं ये प्रमुख नेता

रतिया से इस बार बीजेपी ने लक्ष्मण नापा को टिकट दिया है। मूल रूप से ओड समाज के लक्ष्मण नापा बीजेपी के जिला उपाध्यक्ष भी हैं और ज्ञान चंद ओड के निधन के बाद हुए उपचुनाव में उन्होंने बतौर आजाद प्रत्याशी ताल ठोकी थी। कांग्रेस एक बार फिर जरनैल सिंह पर भरोसा जताया है। रतिया के पूर्व विधायक व हरियाणा एग्रो के चेयरमैन रहे जरनैल सिंह पांचवां विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, जेजेपी ने यहां से मंजू बाजीगर को चुनावी मैदान में उतारा है।

जेजेपी की टिकट पर चुनाव लड़ने उतरीं मंजू बाजीगर कुछ समय पहले तक कांग्रेस की सोशल मीडिया विंग का काम देखती रही हैं, लेकिन बाद में दुष्यंत चौटाला के संपर्क में आने पर उन्होंने कांग्रेस छोड़कर जेजेपी ज्वाइन कर ली थी। इसके अलावा अकाली दल व इनेलो के संयुक्त उम्मीदवार कुलविंद्र सिंह कुनाल को गठबंधन के तहत अकाली दल ने रतिया विधानसभा से उम्मीदवार बनाया है। फिलहाल यहां 195275 मतदाता है, 21 अक्टूबर को मतदान कर इन नेताओं के भविष्य का फैसला करेंगे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here